- Chartered Accountant (CA) कैसे बने- Inhelpu - Inhelpu- My Choice

Get Coupon Code For Recharge

Chartered Accountant (CA) कैसे बने- Inhelpu

Chartered Accountant कैसे बने व CA की सैलरी कितनी होती है
नमस्कार दोस्तों inhelpu में आपका स्वागत है आज का हमारा विषय है कैसे बने Chartered Accountant
& CA के करियर से जुड़ी जानकारी हम आपको इस पोस्ट में बताने वाले है जो आपके लिए मददगार साबित होगी।

क्या है चार्टर्ड अकाउंटेंसी

हर कंपनी / Business को विभिन्न प्रकार के व्यापारिक लेखा-जोखा रखने के साथ ही, प्रोग्रेस के लिए रचनात्मक विचारों की आवश्यकता होती है। ऐसी सभी जिम्मेदारियों को निभाने के लिए चार्टर्ड अकाउंटेंट की जरुरत पड़ती है।चार्टर्ड एकाउंटेंसी कोर्स को पूरा कर लेने वाले व्यक्ति को चार्टर्ड अकाउंटेंट या C.A. कहते है|चार्टर्ड एकाउंटेंसी कोर्स वाणिज्य क्षेत्र का महत्वपूर्ण एंव उच्च स्तर का कोर्स है| यह व्यापार से जुड़ा सबसे महत्वपूर्ण क्षेत्र है। कंपनी के लाभ से कंपनी को सुचारू रूप से चलाने के लिए चार्टर्ड अकाउंटेंट की आवश्यकता पड़ती है।  यह कोर्स किसी विश्वविध्यालय द्वारा नहीं कराया जाता बल्कि पूरे भारत में इसके लिए एक ही संस्थान इंस्टिट्यूट ऑफ़ चार्टर्ड एकाउंटेंट्स ऑफ़ इंडिया (Institute of Chartered Accountants of India – ICAI)” है| यह कोर्स मुख्य रूप से लेखांकन(Accounting), ऑडिट(लेखा पुस्तकों की जाँच), कर-कानून(Tax Laws), कम्पनी एंव अन्य वाणिज्यक कानून (Corporate and other Commercial Laws), लागत लेखांकन(Cost Accounting) एंव वितीय प्रबंधन(Financial Management) आदि विषयों पर केन्द्रित है| यह स्वतंत्र कोर्स है एंव विद्यार्थी चाहे तो इसे स्वंय अध्ययन कर सकता है अथवा चाहे तो प्राइवेट कोचिंग ज्वाइन कर सकता है|        
                                                     यह एक बेहद चुनौतीपूर्ण क्षेत्र है। जिसमें करियर बनाने के लिए सामाजिक-आर्थिक और मार्केट के विषय पर गहरी समझदारी अनिवार्य है। व्यापार से जुड़े तमाम बारीक पहलुओं का विश्लेषण करने की योग्यता के साथ गणित पर अच्छी पकड़ भी आवश्यक है। इसमें व्यापार सम्बंधित सैद्धान्तिक ज्ञान को व्यावहारिक ज्ञान में प्रयोग करना भी आना चाहिए।

माध्यम (Medium)

इस कोर्स को अंग्रेजी (English) माध्यम अथवा हिंदी माध्यम किसी भी माध्यम में किया जा सकता है| इस बात से गुणवता एंव स्तर पर कोई फर्क नहीं पड़ता की आप कोर्स को हिंदी में करते हो या अंग्रेजी में|

उतीर्ण योग्यताएं (Passing Criteria)

 CA कोर्स का कोई भी एग्जाम उतीर्ण करने के लिए प्रत्येक Group में 50 प्रतिशत कुल औसत अंक लाना आवश्यक है एंव ग्रुप के प्रत्येक विषय में कम से कम 40% अंक लाना आवश्यक है|

करियर(Career)

 CA करने के बाद, अगर आप इसी क्षेत्र में करियर बनाना चाहते है तो आपके पास मुख्य रूप से 2 विकल्प होते है| पहला विकल्प है की आप स्वंय अपना ऑफिस खोलकर प्रैक्टिस (practice) शुरू करें एंव स्वतंत्र (independently) रूप से कार्य करें| दूसरा विकल्प यह होता है कि आप किसी कम्पनी या अन्य संस्थान में नौकरी (Job) करें| इसके अलावा इस क्षेत्र में कई अन्य करियर के विकल्प मौजूद है|

सैलेरी(Salary)

योग्यता और क्षमता के अनुसार चार्टर्ड अकाउंटेंट का वेतनमान बदलता रहता है। लेकिन औसत स्तर पर एक चार्टर्ड अकाउंटेंट को 8 लाख से 12 लाख तक वार्षिक वेतनमान मिलता है। विदेशी कंपनी में 16 लाख से 22 लाख तक का वार्षिक वेतनमान हो सकता है।

कैसे बने चार्टर्ड अकाउंटेंट?

CA चार्टर्ड अकाउंटेंट बनने के लिए आपको ICAI  इंस्टिट्यूट ऑफ चार्टर्ड अकाउंटेंट्स ऑफ इंडिया (आईसीएआई) का सदस्य बनना जरूरी है। सबसे अच्छी बात यह है कि आप हाईस्कूल उत्तीर्ण करने के बाद ही CPT कॉमन प्रोफिसिएन्सी टेस्ट (सीपीटी) के लिए रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं। इस कोर्स को दो तरह से किया जा सकता है, या तो इसे 12वीं के बाद शुरू किया जा सकता है अथवा इसे ग्रेजुएशन अथवा CWA कोर्स के इंटरमीडिएट अथवा CS कोर्स के इंटरमीडिएट एग्जाम को पास करने के बाद शुरू किया जा सकता है| अगर इसे 12वीं के बाद शुरू किया जाता है तो इसके लिए CPT (एंट्रेंस टेस्ट) देना पड़ता है लेकिन अगर इसे ग्रेजुएशन अथवा CWA कोर्स के इंटरमीडिएट अथवा CS कोर्स के इंटरमीडिएट एग्जाम को पास करने के बाद शुरू किया जाता है तो इसके लिए CPT (एंट्रेंस टेस्ट) देने की जरुरत नहीं पड़ती| अगर कॉमर्स से ग्रेजुएशन में 55% से कम एंव अन्य ग्रेजुएट (आर्ट्स, साइंस) से ग्रेजुएशन में 60% से भी कम अंक अर्जित किये है, तो भी CPT देने की जरुरत पड़ेगी
                                   CPT > IPCC > Articleship Training > CA Final  =  Chartered Accountant

Common Proficiecy Course (CPT) Level:- सर्वप्रथम CPT के लिए ICAI के पास रजिस्ट्रेशन करवाना पड़ता है एंव रजिस्ट्रेशन के कुछ दिनों बाद ICAI द्वारा स्वीकृति पत्र (Confirmation Letter) एंव इसकी books, डाक द्वारा भेज दी जाती है| ICAI द्वारा CPT की परीक्षा वर्ष में दो बार जून एंव दिसंबर माह में करायी जाती है| CPT की परीक्षा देने के लिये परीक्षा से कुछ महीने पूर्व exam फॉर्म भरना पड़ता है| CPT परीक्षा में 200 marks बहुविकल्पीय प्रश्न पूछे जाते है और पास होने के लिए कम से कम 100 marks लाने अनिवार्य होते है और प्रत्येक विषय में कम से कम 40% मार्क्स अनिवार्य है| फिर से बता दूग्रेजुएशन (कॉमर्स में न्युनत्तम 55% एंव अन्य में न्यूनतम 60% अंक) अथवा CWA कोर्स के इंटरमीडिएट अथवा CS कोर्स के इंटरमीडिएट एग्जाम को पास कर चुके विद्यार्थियों को CPT (एंट्रेंस टेस्ट) देने की जरुरत नहीं पड़ती एंव वे सीधा IPC कोर्स से शुरू कर सकते है|

Common Proficiency Test

Session I
Section A
Fundamentals of Accounting
60 Marks
Section B
Mercantile Law
40 Marks
Session II
Section C
General Economics
50 Marks
Section D
Quantitative Aptitude
50 Marks

IPCC Level:-  CPT एग्जाम पास करने के बाद अथवा ग्रेजुएशन (कॉमर्स में न्युनत्तम 55% एंव अन्य में न्यूनतम 60% अंक) अथवा CWA कोर्स के इंटरमीडिएट अथवा CS कोर्स के इंटरमीडिएट एग्जाम को पास कर चुके विद्यार्थियों को IPCC के लिए रजिस्ट्रेशन करवाना होता है एंव रजिस्ट्रेशन के कुछ दिनों बाद ICAI द्वारा स्वीकृति पत्र (Confirmation Letter) एंव इसकी books, डाक द्वारा भेज दी जाती है | IPCC में 2 ग्रुप होते है जिसमें कुल मिला कर 7 विषय है| IPCC की परीक्षा वर्ष में 2 बार मई एंव नवम्बर में होती है| इस परीक्षा में एक बार में दोनों ग्रुप साथ में पास किये जा सकते है अथवा एक बार में केवल 1 ग्रुप पास किया जा सकता है एंव दूसरा ग्रुप अगली बार में पास किया जा सकता है| IPCC के एग्जाम से पूर्व ICAI द्वारा करवाए जाने वाले कुछ ट्रेनिंग प्रोग्राम जैसे 100 घंटे की ITT(Information Technology Traning) एंव 35 घंटे का ओरिएंटेशन प्रोग्राम आदि करने होते है| IPPC की परीक्षा से पूर्वे CPT की तरह इसमें भी एग्जाम फॉर्म भरना होता है|

Group I

Paper 1:    Accounting (100 marks)


Paper 2: 
    Business Laws, Ethics and Communication (100 marks)


·                 Part I:  Business Laws (60 marks) comprising

1.                                   Business Laws (30 marks)
2.                                   Company Law (30 marks)
·                Part II:   Ethics (20 marks)
·               Part III:   Communication (20 marks)

Paper 3:     Cost Accounting and Financial Management (100 marks)


·             Part I:      Cost Accounting (50 marks)
·            Part II:      Financial Management (50 marks)

Paper 4:      Taxation (100 marks)

·             Part I:      Income-tax (50 marks)
·            Part II:     Indirect Taxes (50 marks)

Group II


Paper 5:           Advanced Accounting (100 marks)


Paper 6:           Auditing and Assurance (100 marks)

Paper 7:           Information Technology and Strategic Management (100 marks)
·           Section A:   Information Technology (50 marks)
·           Section B:   Strategic Management (50 marks)

Articleship Training:-  IPCC के Ist ग्रुप अथवा दोनों ग्रुप को पास करने के बाद 3 वर्ष की प्रैक्टिकल ट्रेनिंग के लिए रजिस्ट्रेशन करवाना पड़ता है| यह ट्रेनिंग practice कर रहे Chartered Accountant के under की जाती है|     
Final Course :-   यह CA कोर्स का अंतिम चरण है| IPCC के दोनों groups को pass कर 
लेने के बाद एंव 2 वर्ष व 6 महीने की प्रैक्टिकल ट्रेनिंग पूरी कर लेने के बाद CA Final की परीक्षा दी जा सकती 

है| इसके लिए सर्वप्रथम रजिस्ट्रेशन करवाना होता है एंव रजिस्ट्रेशन के कुछ दिनों बाद ICAI द्वारा स्वीकृति 

पत्र (Confirmation Letter) एंव इसकी books, डाक द्वारा भेज दी जाती है| परीक्षा से पूर्व एग्जाम फॉर्म भरना 

होता है| CA Final में 2 ग्रुप होते है जिसमें कुल मिला कर 8 विषय है| CA Final की परीक्षा वर्ष में 2 बार मई

एंव नवम्बर में होती है| इस परीक्षा में एक बार में दोनों ग्रुप साथ में पास किये जा सकते है अथवा एक बार में 
केवल 1 ग्रुप पास किया जा सकता है एंव दूसरा ग्रुप अगली बार में पास किया जा सकता है|

Each paper 3 hours-100 Marks

Group I

  • Paper 1: Financial Reporting [100 Marks]
  • Paper 2: Strategic Financial Management [100 Marks]
  • Paper 3: Advanced Auditing and Professional Ethics [100 Marks]
  • Paper 4: Corporate and Allied Laws [100 Marks]
    • Section A: Company Law [70 Marks]
    • Section B: Allied Laws [30 Marks]

Group II

  • Paper 5: Advanced Management Accounting [100 Marks]
  • Paper 6: Information systems Control and Audit [100 Marks]
  • Paper 7: Direct Tax Laws [100 Marks]
  • Paper 8: Indirect Tax Laws [100 Marks]
    • Section A: Central Excise [40 Marks]
    • Section B: Service Tax & VAT [40 Marks]
    • Section C: Customs [20 Marks]

 Membership

 CA Final की परीक्षा उतीर्ण कर लेने एंव ICAI द्वारा करवाये जाने वाले GMCS Program को पूरा कर लेने पर ICAI से Membership प्राप्त हो जाती है एंव इसके बाद वह अपने नाम के आगे CA लगा सकता है|





Chartered Accountant (CA) कैसे बने- Inhelpu Chartered Accountant (CA)  कैसे बने- Inhelpu Reviewed by Ritesh Singh on 10:55 am Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.